Type Here to Get Search Results !

शिक्षण अभिरुचि से संबधित महत्वपूर्ण शब्दावली

    इस पोस्ट में आपको BSTC व PTET  के लिए शिक्षण अभिरुचि से संबधित महत्वपूर्ण शब्दावली को विस्तार से बताया गया है | दोस्तों प्रत्येक वर्ष BSTC व PTET एग्जाम में शिक्षण शब्दावली से संबधित 10 से 15 नंबर के सवाल पूछे जाते है | जिन्हें आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ कर आसानी से हल कर सकते है | इसलिए इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े | और यदि आपको लगता है की यह पोस्ट वास्तव में ज्ञानवर्धक है तो अपने मित्रो के साथ शेयर करना मत भुलाना |

teaching-aptitude-notes
Teaching Aptitude Notes


Table Of Content (toc)

शिक्षण अभिरुचि के नोट्स :

शिक्षण अभिरुचि से संबधित महत्वपूर्ण शब्दावली

शिक्षण : 

सिखाना या पढ़ाना

शिक्षण विषय : 

पढ़ाये जाने वाला विषय

अभिरुचि : 

किसी व्यवसाय विशेष या वस्तु विशेष में रुचि

अभिवृत्ति : 

किसी व्यवसाय / व्यक्ति आदि के प्रति दृष्टिकोण या नजरिया

अधिगम : 

सीखना

निदानात्मक परीक्षण : 

वह परीक्षण जिसमें किसी छात्र यहां रोगी की कमजोरी कमी या बीमारी का पता लगाया जाता है |

उदाहरण : गणित का टेस्ट लिया गया जिसमें पता चलता है कि कुछ छात्र प्रतिशत से जुड़े प्रश्न हल नहीं कर पा रहे हैं इसका अर्थ यह निदानात्मक परीक्षण है जिसमें कमजोरी का पता चलता है ।

उपचारात्मक परीक्षण : 

किसी कमजोरियां कमी या बीमारी का इलाज करने के लिए जो परीक्षण किया जाता है उसे उपचारात्मक शिक्षण कहते हैं |

उदाहरण : कक्षा के छात्र जो गणित के प्रतिशत से जुड़े प्रश्नों को ठीक से हल नहीं कर पा रहे हैं का उस तरह का परीक्षण जिससे प्रतिशत से जुड़ी समस्याओं का निराकरण करने लग जाते हैं अर्थात यह चार आत्मक परीक्षण है जिसमें छात्रों की कमी को दूर किया जा सकता है ।

आगमन विधि : 

इस विधि में छात्रों के सामने पहले उनके सहयोग से उदाहरण प्रस्तुत किए जाते हैं तथा उदाहरणों के सहयोग से सिद्धांत निर्धारण या नियम बनाया जाता है |

निगमन विधि : 

इस शिक्षण विधि में छात्रों को पहले नियम या सिद्धांत बता दिया जाता है तथा उसके बाद उदाहरणों के माध्यम से उसकी पुष्टि की जाती है |

विश्लेषण विधि : 

जैसे शिक्षण विधि में समस्या को छोटे-छोटे टुकड़ों में बांट दिया जाता है |

संश्लेषण विधि : 

विभिन्न बिखरे भागों को पुनः एक जगह इस विधि में किया जाता है |12. विचार संप्रेषण : 

वह प्रक्रिया है जिसमें संदेश को एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक पहुंचाया जाता है |

संप्रेषणकर्ता : 

किसी भी माध्यम से अपने विचार ज्ञान एवं कौशल का संप्रेषण करने वाला व्यक्ति संप्रेषण करता कहलाता है उदाहरण स्वरुप कक्षा में शिक्षक एक संप्रेषणकर्ता की भांति व्यवहार करता है |

संप्रेषित : 

किसी भी माध्यम से संप्रेषणकर्ता के विचार ज्ञान एवं कौशल को ग्रहण करने वालों को संप्रेषित ही कहा जाता है कक्षा में पाठ पढ़ाते समय शिक्षक संप्रेषण करता एवं छात्र संप्रेषित का काम करते हैं |

सजगता : 

अपने परिवेश में होने वाली घटनाओं पर नजर रखना तथा उस परिस्थिति में अपने कर्तव्य अधिकार के बारे में जानकारी रखना ।

उदाहरण देश के किसी कोने में संप्रदायिक दंगे भड़क उठे ऐसी स्थिति में समय रहते एक जागरूक यहां सजग नागरिक ऐसे कदम उठाएगा जिससे आपके शहर का माहौल ने बिगड़े शहर का वातावरण सौहार्दपूर्ण बना रहे |

शिक्षक प्रधान शिक्षण विधि : 

वह शिक्षण विधि जिसमें अध्यापक का स्थान प्रमुख तथा छात्रों का स्थान गौण होता है उदाहरण व्याख्यान विधि में अध्यापक का स्थान प्रमुख तथा छात्र केवल श्रोता होते हैं उनका स्थान गौण होता है |

नैतिकता : 

कर्तव्य की आंतरिक भावना है जिसमें उचित-अनुचित का विचार संनिहत होता है |

नियोजन : 

वह चेतन प्रयास जिसके द्वारा वांछनीय निश्चित लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु संभावित रूप से कार्य किया जाता है |

सामाजिकरण : 

वह प्रक्रिया जिसके द्वारा व्यक्ति एक क्रियाशील सदस्य बनने हेतु समय की कार्य विधियों से संबंध में स्थापित करता है इसकी परंपराओं का ध्यान रखता है और सामाजिक परिस्थितियों से अनुकूलन करके अपने साथियों के व्यवहार से सामंजस्य स्थापित करता है |

प्रतियोगिता यहां प्रतिस्पर्धा : 

प्रतियोगिता दो यहां अधिक व्यक्तियों के समान उद्देश्य जो सीमित हैं इस सब उसने भागीदारी नहीं बन सकते पालने के प्रयत्न को कहते हैं |

संस्कृति : 

संस्कृति वह संश्लिष्ट अभी योजना है जिसमें समाज गत ज्ञान विश्वास कला नैतिकता विधि रसम रिवाज तथा लोगों की सभी प्रकार की क्षमताएं तथा आदतें सम्मिलित है |

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads Area